100% PP 100% PP
₹ 380.00
  • M.R.P.: ₹ 400.00
  • You Save: ₹ 20.00 (5%)
  • Inclusive of all taxes
FREE Delivery on orders over ₹ 499.00 . Details
Only 1 left in stock.
Available as a Kindle eBook. Kindle eBooks can be read on any device with the free Kindle app.
Sold by uRead-Store (4.5 out of 5 | 10,645 ratings) and Fulfilled by Amazon.
Other Sellers on Amazon
Add to Cart
₹ 340.00
+ ₹ 40.00 Delivery charge
Sold by: GAURAV BOOKS CENTER
Add to Cart
₹ 320.00
+ ₹ 65.00 Delivery charge
Sold by: YASH PUBLISHERS
Add to Cart
₹ 360.00
+ ₹ 89.50 Delivery charge
Sold by: IMPACT BOOKS
Have one to sell? Sell on Amazon
Flip to back Flip to front
Listen Playing... Paused   You're listening to a sample of the Audible audio edition.
Learn more.
See all 2 images

Follow the Author

Something went wrong. Please try your request again later.


ACHCHHA BOLNE KI KALA AUR KAMYABI (Hindi) Hardcover – 1 January 2018

4.0 out of 5 stars 166 ratings

See all 4 formats and editions Hide other formats and editions
Price
New from
Hardcover
₹ 380.00
₹ 301.00
10 Days Replacement Only
Amazon Delivered
Amazon Delivered
Amazon directly manages delivery for this product. Order delivery tracking to your doorstep is available.
click to open popover

Save Extra with 3 offers

Product description

About the Author

(24 नवंबर, 18881 नवंबर, 1955) विश्वप्रसिद्ध अमेरिकी लेखक एवं व्याख्यानकर्ता, जिन्होंने व्यक्तित्व विकास, सेल्समैनशिप प्रशिक्षण, कॉरपोरेट ट्रेनिंग, सार्वजनिक भाषण कला तथा आत्मविकास के विभिन्न कोर्स प्रारंभ किए, जो अत्यंत लोकप्रिय हुए। उनकी पहली पुस्तक ‘हाउ टु विन फ्रेंड्स ऐंड इन्फ्लुएंस पीपल’ 1936 में प्रकाशित हुई, जिसे जबरदस्त सफलता मिली और वह अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलर पुस्तक बनी तथा आज तक बनी हुई है। उन्होंने अब्राहम लिंकन की एक जीवनी ‘लिंकन ः दि अननोन’ के अलावा कई अन्य बेस्टसेलर पुस्तकें लिखी हैं।.

From the Publisher

Achchha Bolne Ki Kala Aur Kamyabi By Dale Carnegie

Achchha Bolne Ki Kala Aur Kamyabi By Dale Carnegie

वह सामान्य व्यक्ति की तुलना में अधिक सफल होने की संभावना रखता है।

  • प्रखर वक्ता होना, ओजस्वी वाणी का स्वामी होना, प्रभावी शैली में श्रोताओं को मंत्र-मुग्ध कर देने की क्षमता जिसमें हो, वह सामान्य व्यक्ति की तुलना में अधिक सफल होने की संभावना रखता है। बातचीत करना भाषण की कला सीखने का सबसे पहला सिद्धांत है। शुरुआती दौर में स्वर एवं अंदाज जैसी कलाओं पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं होती है। बातचीत करना कला को सीखने का पहला सिद्धांत है; अर्थात् बोलिए, वाद-विवाद में हिस्सा लीजिए, अपनी प्रतिभा का स्वयं आकलन कीजिए और दर्शकों की आलोचना से सीखने की कोशिश कीजिए।
  • सवाल है कि खुद की गलतियों को कैसे समझा जाए? इसके लिए कुछ तथ्यों को समझने की आवश्यकता है—महान् वक्ता में कौन से विशेष गुण होते हैं और उन गुणों को कैसे प्राप्त किया जा सकता है? स्वयं के व्यक्तित्व में ऐसी कौन सी कमी है, जो इन गुणों की प्राप्ति में बाधा बन सकती है? इस विषय पर महान् लेखक डेल कारनेगी की सदाबहार एवं सर्वाधिक पसंद की जानेवाली इस पुस्तक के द्वारा कोई भी सामान्य व्यक्ति दर्शकों के समक्ष बोलने के क्षेत्र में कामयाबी के शिखर तक पहुँच सकता है।

अनुक्रम

  1. दर्शकों के समक्ष भरोसा हासिल करना
  2. प्रभाव एवं वशीभूतता द्वारा कुशलता
  3. भिन्नता एवं उच्चारण की शुद्धता
  4. विवरण के द्वारा प्रभावित करना
  5. चित्रण के द्वारा प्रभावित करना
  6. वर्णन के द्वारा प्रभावित करना
  7. सुझाव के द्वारा प्रभावित करना
  8. वाद-विवाद के द्वारा प्रभावित करना
  9. भोज के उपरांत एवं अन्य मौकों पर बोलना

***

Achchha Bolne Ki Kala Aur Kamyabi By Dale Carnegie

Achchha Bolne Ki Kala Aur Kamyabi By Dale Carnegie

Enter your mobile number or email address below and we'll send you a link to download the free Kindle App. Then you can start reading Kindle books on your smartphone, tablet, or computer - no Kindle device required.

  • Apple
    Apple
  • Android
    Android
  • Windows Phone
    Windows Phone

To get the free app, enter mobile phone number.

kcpAppSendButton


Product details

Customer reviews

4.0 out of 5 stars
4 out of 5
166 customer ratings
How does Amazon calculate star ratings?

Review this product

Share your thoughts with other customers
Reviewed in India on 1 August 2018
Verified Purchase
review image
14 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 24 June 2018
Verified Purchase
review image
9 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 1 March 2017
Verified Purchase
10 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 6 January 2020
Verified Purchase
review imagereview image
3 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 27 October 2019
Verified Purchase
One person found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 28 November 2019
Verified Purchase
Reviewed in India on 2 April 2019
Verified Purchase