₹ 195.00
  • M.R.P.: ₹ 200.00
  • You Save: ₹ 5.00 (3%)
  • Inclusive of all taxes
Fulfilled FREE Delivery on orders over ₹ 499.00 . Details
In stock.
Other Sellers on Amazon
₹ 195.00
+ FREE Delivery
Sold by: Vukti Book Enterprises
₹ 199.00
& FREE Delivery on eligible orders. Details
Sold by: ApnaBazzar
₹ 174.00
+ ₹ 36.00 Delivery charge
Sold by: Ride Book Shop
Have one to sell?
Flip to back Flip to front
Listen Playing... Paused   You're listening to a sample of the Audible audio edition.
Learn more.

Follow the Author

Something went wrong. Please try your request again later.


Aughad (Hindi) Paperback – 4 February 2019

4.5 out of 5 stars 574 ratings

See all formats and editions Hide other formats and editions
Price
New from
Paperback
₹ 195.00
₹ 140.00
Delivery by: Saturday, Dec 5 Details
Fastest delivery: Tomorrow
Order within 3 hrs and 51 mins
Details

Save Extra with 3 offers

Cashback (3): Get 25% back up to ₹150 with Amazon Pay Later. Valid on 1st Pay Later transaction. Check eligibility here! See All
Bank Offer: 5% Instant discount with HSBC Cashback card Details
No-Contact Delivery

Delivery Associate will place the order on your doorstep and step back to maintain a 2-meter distance.

No customer signatures are required at the time of delivery.

For Pay-on-Delivery orders, we recommend paying using Credit card/Debit card/Netbanking via the pay-link sent via SMS at the time of delivery. To pay by cash, place cash on top of the delivery box and step back.

Amazon Delivered
Amazon directly manages delivery for this product. Order delivery tracking to your doorstep is available.
click to open popover

Frequently bought together

  • Aughad
  • +
  • Dark Horse: Ek Ankahi Dastan
  • +
  • Banaras Talkies
Total price: 475,00 ₹
Buy the selected items together

Product description

About the Author

साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार से सम्मानित नीलोत्पल मृणाल 21वीं सदी की नई पीढ़ी के सर्वाधिक लोकप्रिय लेखकों में से एक हैं, जिनमें कलम के साथ-साथ राजनैतिक और सामाजिक मुद्दों पर ज़मीनी रूप से लड़ने का तेवर भी हैं। इसीलिए इनके लेखन में भी सामाजिक विषमताएँ, विडंबनाएँ और आपसी संघर्ष बहुत स्पष्ट रूप से दृष्टिगोचर होते हैं। लेखन के अलावा लोकगायन और कविताई में बराबर गति रखने वाले नीलोत्पल ने अपने पहले उपन्यास ‘डार्क हॉर्स’ के बरक्स ‘औघड़’ में ग्रामीण भारत के राजनैतिक-सामाजिक जटिलता की गाँठ पर अपनी कलम रखी है। ‘औघड़’ नई वाली हिंदी के वितान का एक नया विस्तार है।.

From the Publisher

1. अपने उपन्यास ‘औघड़’ की प्रस्तावना में आप ने लिखा है- ‘मैंने उपन्यास नहीं लिखा बल्कि अपने मारे जाने की ज़मानत लिखी है’। आपके ज़ेहन में ऐसा लिखने का ख़याल कैसे आया?

हम जिस सामाजिक परिवेश और दौर में रह रहे हैं वहाँ जातिय और लैंगिक तथा आर्थिक तथा राजनीतिक-सामाजिक विचारधाराओं का भेद इतना ज़्यादा जटिल और गहरा है कि अगर इस पर कोई भी क़लम मुखर होकर बोले, तो वह उन विडंबनाओं और रूढ़ियों को ख़ुद पर हमला लगता है। ऐसे में ज़ाहिर है कि वे पलटवार करेंगे, क़लम के विरोध में आक्रामक होंगे। इसलिए किसी भी कलम के लिए रूढ़ियों के खिलाफ़ लिखने का मतलब उस ख़तरे के लिए तैयार रहना है जो रूढ़ियों की तरफ़ से होगा। इसलिए भूमिका में मैंने अपने मारे जाने की ही ज़मानत लिखी है। दरअसल, मैं उन हमलों के लिए तैयार हूँ।

2. ‘औघड़’ ग्रामीण परिवेश को रेखांकित करता उपन्यास है। ग्रामीण परिवेश पर लिखना कैसा अनुभव रहा?

मैं उसी परिवेश में रहने वाला आदमी हूँ। उसी दुनिया का आज भी हिस्सा हूँ। इस कारण लिखने में रुचि रही और सहज लिख पाया।

3. सोशल मीडिया पर आपकी पकड़ मज़बूत होती जा रही है। क्या सोशल मीडिया साहित्य के उत्थान में एक कारगर घटक बन सकता है?

मेरी पकड़ क्या है, यह नहीं बताया जा सकता। सोशल मीडिया पर पकड़ का पैमाना क्या है, यह नहीं पता मुझे। हाँ, इतना भर ही जानता हूँ कि वहाँ से ढेरों पाठक मिले, उनका स्नेह मिला और उनके दिए हौसले से लिखने की हिम्मत मिली। इस लिहाज़ से सोशल मिडिया मेरे लिए तो बेहद कारगर रहा है।

8. नई वाली हिंदी को लेकर आपके मन में क्या विचार हैं?

ज़िंदाबाद है, ज़िंदाबाद रहेगी नई वाली हिंदी। जय हो।

Enter your mobile number or email address below and we'll send you a link to download the free Kindle App. Then you can start reading Kindle books on your smartphone, tablet, or computer - no Kindle device required.

  • Apple
    Apple
  • Android
    Android
  • Windows Phone
    Windows Phone

To get the free app, enter mobile phone number.

kcpAppSendButton


Product details

  • Item Weight : 240 g
  • Paperback : 384 pages
  • ISBN-10 : 9387464504
  • ISBN-13 : 978-9387464506
  • Dimensions : 20 x 14 x 4 cm
  • Publisher : Hind Yugm; First edition (4 February 2019)
  • Language: : Hindi
  • Customer Reviews:
    4.5 out of 5 stars 574 ratings

Customer reviews

4.5 out of 5 stars
4.5 out of 5
574 global ratings
How are ratings calculated?

Review this product

Share your thoughts with other customers

Read reviews that mention

Top reviews from India

Reviewed in India on 3 August 2019
Verified Purchase
review image
49 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 28 February 2019
Verified Purchase
33 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 26 March 2019
Verified Purchase
24 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 22 February 2019
Verified Purchase
9 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 21 February 2019
Verified Purchase
review image
9 people found this helpful
Comment Report abuse
Reviewed in India on 24 March 2019
Verified Purchase
3 people found this helpful
Comment Report abuse